पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान का कैसे पाएं लाभ?

by user

कोरोना संकट के समय लाखों की संख्या में अपने गांवों को लौटे प्रवासी मजदूरों के रोजगार के लिए केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरूआत की है। इस अभियान के तहत देश के छह राज्यों के 116 जिलों में 50,000 करोड़ रुपए ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे के निर्माण पर किए जाएंगे और लगभग 1.5 लाख मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा।

ये 6 राज्य वे हैं जहां पर लॉकडाउन के दौरान सबसे अधिक प्रवासी मजदूर आए हैं। इन राज्यों में उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, झारखंड, राजस्थान और ओडिशा शामिल हैं। 125 दिनों तक चलने वाले इस मिशन मोड अभियान में 25 योजनाओं के जरिये प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। इसमें स्वच्छ भारत अभियान, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, मनरेगा, जल जीवन मिशन जैसी योजनाएं शामिल हैं।

इस अभियान का समन्वय केंद्र सरकार के 12 अलग-अलग मंत्रालय करेंगे। इनमें ग्रामीण विकास, पंचायती राज, खनन, पेयजल एवं स्वच्छता, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, पर्यावरण, रेलवे, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा, पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस, सीमा सड़क, दूरसंचार और कृषि मंत्रालय शामिल है। इस योजना का लाभ लेने वाले नागरिक को उसी राज्य का होना चाहिए जहां योजना क्रियान्वित है। इसके लिए उसे आधार कार्ड और निवास प्रमाण पत्र दिखाना होगा। योजना के तहत 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को काम दिया जाएगा।

इस अभियान के तहत 6 राज्यों के 116 जिलों का चयन किया गया है। इसमें बिहार के 32, उत्तर प्रदेश के 31, मध्य प्रदेश के 24, राजस्थान के 22, ओड़िशा के 4 और झारखंड के 3 जिले शामिल हैं। अगर आपको भी इस योजना के तहत मजदूरी चाहिए तो अपने ग्राम प्रधान या ग्राम सचिव से संपर्क करिए। मनरेगा की तरह ही इस योजना में भी रोजगार पाया जा सकता है।

You may also like

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More